Friday, November 24

विनोद खन्ना: कभी न भुला पाने वाली शक्सियत- vinod khanna in hindi

प्रसिद्ध अभिनेता विनोद खन्ना का देहांत 27 अप्रैल 2017 की सुबह मुंबई में हुआ | वह कई सालों से ब्लैडर कैंसर से लड़ रहे थे, और 27 अप्रैल को इस 70 वर्ष के अभिनेता ने 11:20 को अपनी आखिरी सांस ली |

Vinod Khanna in hospital

नेता और अभिनेता के रूप में 

100 से भी ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके अभिनेता आजकल भारतीय जनता पार्टी से जुड़े हुए थे, और पंजाब के गुरदासपुर जिले से लोक सभा में कार्यरत थे | विनोद खन्ना एक जाने माने अभिनेता थे, जब उन्होंने 1982, में अपने फ़िल्मी जीवन से 5 साल के लिए ओशो के साथ जुड़ने का फैसला लिया, तो उनके प्रशंसक अचंभित रह गए थे | पर उन्होंने भी 80 के दशक के खत्म होने से पहले ही फ़िल्मी दुनिया में वापसी कर ली, और “सत्यमेव जयते” और “इन्साफ” जैसी सफल फिल्में दी हैं | उनकी आखिरी फिल्म 2015 में रिलीज़ हुई जो “दिलवाले” के नाम से जानी  जाती है | उनके देहांत पर कई बॉलीवुड कलाकारों ने दुःख व्यक्त किया है |

vinod khanna as a politition
विनोद खन्ना का परिवार
उनके जीवन पर प्रकाश डालें तो, उनका जन्म पेशावर में एक उद्योगपति के घर में 6 अक्टूबर 1946 में हुआ था | उन्होंने 2 शादियाँ की थी, पहली पत्नी गीतांजलि से शादी के कुछ समय बाद ही तलाक हो गया था, फिर उन्होंने कविता को अपना जीवन साथी चुना और अपनी अंतिम सांसें भी उन्ही के साथ ही ली|
 vinod Khanna Family Photos
फ़िल्मी दुनिया 
उन्होंने अपना फ़िल्मी सफ़र की शुरुआत “मन का मीत“ फिल्म से की, और फिर कभी पलट कर नही देखा| उनके काम को बहुत सराहा गया और उन्हें पहचान भी मिली | उन्होंने कई सालों तक फिल्मों में काम किया जिसमें की कई बॉक्स ऑफिस पर सक्रिय भी रही | उनके प्रभावशाली व्यक्तित्व और अभिनय के लिए उन्हें हमेशा ही याद किया जाता रहेगा | उनके दोस्त, शत्रुघन सिन्हा, ऋषि कपूर, धर्मेन्द्र ने उन्हें एक अच्छे दोस्त और एक कर्मशील इंसान की उपाधि देते हुए अपना शोक प्रकट किया है |
vinod khaanna film shooting

4 Comments