Monday, April 23

एक सुहाना सफर प्राकृति सौंदर्य के वैभव के नाम – पूर्व का स्वीट्ज़रलैंड – सिक्किम ,गैंगटॉक ( Sikkim, Gangtok tourist place )

सिक्किम जिसे पूर्व का स्वीट्ज़रलैंड कहते हैं, यह भारत का छोटा  राज्य है | अगर आप प्रकृति प्रेमी है, और आपको खुली ठंडी वादियाँ पसंद हैं तो आप यहाँ जरूर घूमने जायेंगे | सिक्किम हिमालय की गोद में बसा हुआ है | इसकी राजधानी गैंगटोक है | यहाँ के ऊंचे पर्वतशिखर, हरी-भरी घाटियां, तेजधार वाली नदियां और खूबसूरत पहाड़ पर्यटकों के मन को लुभा लेती हैं | तो चलिए जानते हैं सिक्किम की ऐसी कौन सी चीजें, जगह ( Sikkim Gangtok tourist place ) हैं जो पर्यटकों को अपनी ओर खीचतीं हैं |

रोमांटिक प्लेस गैंगटोक :-
यहाँ पर ज्यादातर नए शादी-शुदा जोड़े घूमने आया करते हैं | यह भारत के सबसे सुन्दर शहरों में से एक है, जिसे प्रकृति का अटूट वरदान मिला है | यहाँ का मौसम सालभर खुशनुमा बना रहता है | यहाँ पर हर साल बर्फ़बारी होती रहती है | तो अगर आप स्नोफॉल के शौक़ीन हैं तो यह जगह आपके लिए बेस्ट है | समुद्र तल से इस शहर की ऊंचाई 1800 मीटर है | इन्ही सब कारणों से यहाँ का नज़ारा देखने लायक होता है |

Sikkim Gangtok tourist place icefall

सिक्किम की प्राचीन राजधानी युक्सोम :-
युक्सोम सिक्किम की कभी राजधानी हुआ करती थी | Sikkim Gangtok tourist place में से यह एक पवित्र स्थान है | इसी स्थान की शुद्धिकरण तीन विद्वान लामाओं ने मिलकर किया है | दुनिया का तीसरा सबसे ऊंचा पर्वतशिखर कंचनजंगा के लिए यह बेस कैंप है | देखा जाये तो सिक्किम का इतिहास इसी शहर से आरम्भ हुआ था |

yuksom,Sikkim Gangtok tourist place

कंचनजंगा का पर्वत शिखर :-
यह पर्वत शिखर दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखरों में से एक है | इस शिखर की ऊंचाई 8534 मीटर है | वहां के निवासी इसे रक्षक देवता के रूप में पूजते हैं | कंचनजंगा यहाँ का एक ऐसा स्थान ( Sikkim Gangtok tourist place ) है जिसे पर्वतीय प्रेमी बिना देखे वापस नहीं लौटते हैं | यह गंगटोक से लगभग 140 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है | इसके अलावा युमथांग से भी इस पर्वत की झलक देख सकते हैं |

kanchanjunga

पौधे, प्राणियों और प्रसिद्ध नदियों की दुनिया:-
यहाँ पर एक सोम्गो नाम का लेक है जिसकी लम्बाई 1 किलोमीटर है | इस झील की सुंदरता मई से लेकर अगस्त के महीने में देखते बनती है | यह अंडाकार के शेप में बना है | शर्दियों में इसका पानी जमने के कारन पूरा अंडा की तरह दिखाई देता है |

flowers in sikkim

मई और जून के महीने में दुर्लभ प्रकार के फूलों से यहाँ की घाटी का रंग-बिरंगा सौंदर्य देखते ही बनता है। इन फूलों के नाम  बसंती गुलाब, आइरिस और नीले-पीले पोस्त आदि है | यहाँ पर मुख्य रूप से लाल पांडा देखने को मिलता है | इन सब के अलावा दो  अभ्यारण्यों सिंग्बा रोडोडेंड्रन सैंक्चुरी और कंचनजंगा नेशनल पार्क भी पर्यटन स्थल है |
red panda sikkim
नाथुला दर्रा :-
इस जगह पर जाने के लिए लोगों को परमिट लेना पड़ता है | परमिट लेने का मुख्य कारण इसका भारत और चीन की सीमा पर स्थित होना है | यह जगह टेढ़े मेढे रास्तों और पहाड़ों से झरते झरनों से घिरा है |

 Nathu La darra sikkim
एकेडमिक उद्देश्य से यहां आने वाले लोगों के लिए नाम्ग्याल इंस्टीट्यूट ऑफ टिबेटोलॉजी आकर्षण का केंद्र है। यहां तिब्बती विज्ञान, चिकित्सा और  ज्योतिष से संबंधित पुस्तकें मिलती हैं |
11Shares

16 Comments

Please wait...

Subscribe to our newsletter

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.