Monday, November 20

भारतीय बाज़ारों में बिकने वाले एलईडी बल्ब से खतरा बढ़ने का है डर ( security issue in led lights )

एलईडी बल्ब की खासियत उसकी तेज़ रोशनी और कम बिजली खपत है | इसके कारण यह लोगों के लिए ज्यादा उपयोगी है | और यही कारण से  बाजार में तेज़ी से इसका विक्रय हो रहा है | पर मुनाफा कमाने के चक्कर में एलईडी बल्ब का 76 प्रतिशत ब्रांड उपभोक्ता सुरक्षा मानकों का उल्लंघन कर रहे हैं । घरेलू बाजार में Led bulb is not safe. There is security issue in led lights. एक शोध से पता चला है कि कुछ शहरों में ऐसी दुकानें हैं जो खुदरा माल बेच रही हैं | अहमदाबाद, हैदराबाद, दिल्ली और मुंबई शहर मिलाकर 200 दुकाने ऐसी हैं जो इस तरह का काम कर रही हैं ।
security issue in led lights
Reason behind security issue in led lights:-
इलेक्‍ट्रिक लैंप एंड कंपोनेंट मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन’ को एलकोमा के नाम से जाना जाता है | इसके अनुसार दिल्ली में बीआईएस मानकों का उल्लंघन सबसे ज्यादा हुआ है । ये नकली प्रोडक्ट ( उत्पाद ) कस्टमर्स के लिए बहुत खतरनाक है।
एलकोमा के अनुसार एलईडी बल्ब उत्पादक, उपभोक्ता के सुरक्षा मानकों का ध्यान नहीं रखते हैं | जैसा कि हम जानते हैं सभी दफ्तरों और घरों में ब़़डे पैमाने पर एलईडी बल्ब इस्तेमाल किये जाते हैं, ऐसे में सही तरीके का प्रोडक्ट बनना बहुत जरूरी है | वर्तमान में देश में एलईडी का कुल बाजार तकरीबन 10 हजार करोड़ रुपये का है। जिसमे से एलईडी बल्ब के 76 प्रतिशत ब्रांड और एलईडी डाउनलाइटर के 71 प्रतिशत ब्रांड ने उपभोक्ता सुरक्षा मानकों का उल्लंघन किया है।

जागरूकता के उपाय :-
भारतीय बाज़ारों में बिकने वाले एलईडी बल्ब से खतरा बढ़ने का डर  है | सरकार ने लोगो तक जानकारी पहुँचाने के लिए एक पहल की है | इस पहल का नाम उजाला है | इस स्कीम के तहत पूरे भारत में एलईडी बल्ब के इस्तेमाल पर ज़ोर दिया है | और साथ ही एलईडी बल्बों की स्टार रेटिंग अनिवार्य कर दी गयी है| इस रेटिंग से उपभोक्ता तक सही सामान पहुंचेगा |
led bulbs