Sunday, December 17

आतंकवाद और हिंसा को रोकने के लिए सोशल मीडिया हटाने लगे है फर्जी पोस्ट !

आजकल पूरी दुनिया में आतंकवाद और कट्टरपंथियों की वजह से हमले हो रहे है। आतंकवाद की बात करे तो सीरिया में स्थित आईएसआईएस के आतंकवादी यूट्यूब पर एक्टिव रहते हुए एक तरफ अपने विडियो सन्देश का इस्तेमाल अपने सेना को बढ़ाने के लिए करते है और दूसरी तरफ वो लोग जिसको पकड़ते है उनको मारते हुए बनाया गया विडियो लोगो में दहसत फ़ैलाने के लिए सोशल मिडिया में डाल देते है। इससे कट्टरपंथी सोच रखने वाले लोग इन्टरनेट पर ऐसे सामग्री देखकर प्रभावित हो जाते है जिससे की दंगा फसाद जैसे हालात उत्पन्न होते है।

आतंकवाद को ख़त्म करने के लिए उठाया कदम !

इन सब बातो को ध्यान में रखते हुए यूरोपीय संघ ने एक इन्टरनेट फोरम तैयार किया है जिसमे सारी इन्टरनेट प्रोवाइड करने वाली कंपनिया और सोशल मिडिया जैसे गूगल,फेसबुक, ट्वीटर ,माइक्रोसॉफ्ट, चलाने वाली कंपनियों को कहा गया की वो अपने अपने नेटवर्क से असामाजिक तत्व फ़ैलाने वाले कॉन्टेंट्स को हटाय। यूरोपीय संघ ने सारी कंपनियों को एक प्लेटफॉर्म पर लाने के लिए एक अलग नेटवर्क ईयु इन्टरनेट फोरम बनाया है जिसमे ईयु काउंटर टेरेरिज़्म कॉर्डिनेटर की बहाली की गई है।

facebook-terrorist

 

हलाकि ट्वीटर ने पहले से ही इसपर काम करना शुरू कर दिया था। अभी हाल ही में ट्वीटर ने अपने नेटवर्क पर २ लाख से ज्यादा एकाउंट्स को ससपेंड किया है। जिसके द्वारा असामाजिक तत्वो को फैलाया जा रहा था। अब धीरे धीरे सारी सोशल मिडिया कंपनिया भी अपने नेटवर्क से ऐसे एकाउंट्स को ससपेंड करेगी और असमाजिकता फ़ैलाने वाले कंटेंट्स और वीडियोस को भी हटाएगी। ट्वीटर ने एक कॉमन प्लेटफॉर्म पर अपने बयां में कहा की हम अपने नेटवर्क पर अपलोड होने वाले सारे कॉन्टेन्ट और वीडियोस पर ध्यान रख रहे है।

 

6 Comments